Home Gharelu upchar Benefits of Pudina | पुदीना का औषधीय गुण क्या है इसका उपयोग...

Benefits of Pudina | पुदीना का औषधीय गुण क्या है इसका उपयोग कैसे करें, पुदीना के फायदे

1043
0
SHARE
Benefits of Pudina
Benefits of Pudina

Benefits of Pudina | पुदीना का औषधीय गुण क्या है इसका उपयोग कैसे करें, पुदीना के फायदे

Benefits of Pudina पुदीना का उपयोग आयुर्वेद में सदियों से किए जा रहे हैं। पुदीने का चटनी लोग काफी चाव से खाते हैं। पुदीना स्वास्थ्यवर्धक होता है, आपको बता दें वैसे तो पुदीना कई प्रजाति के होते हैं किंतु आयुर्वेद में और आहार के रूप में मेंथा स्पीक्टा लिन्न पुदीना का उपयोग किए जाते हैं।

पुदीने का उपयोग दंत मंजन, टूथपेस्ट, माउथ फ्रेशनर इत्यादि में भी किए जाते हैं। आयुर्वेद की मानें तो पुदीना कफ और वात दोष को कम करके भूख बढ़ाने का कारगर औषधि है। मल मूत्र संबंधित बीमारियों तथा शारीरिक कमजोरियों में भी पुदीने का प्रयोग किए जाते हैं।

आयुर्वेद के चिकित्सक के अनुसार दस्त, पेचिश, बुखार, पेट के रोग, लीवर आदि विकार को पुदीना दुरुस्त कर देता है।

पुदीना हिंदी नाम है इसे गुजरात में फूदीनो, नेपाल में बावरी, पंजाब में पहाड़ी पोदीना, तमिलनाडु में पुदीना , तथा अंग्रेजी में Garden mint, Lamb mint, Spear mint नामों से जानते हैं।

Pudina Benefits and Uses in Hindi पुदीने के फायदे हिंदी में

हमारे बहुत से पाठक बंधुओं को इस बात की जानकारी नहीं है कि पुदीने का प्रयोग किन किन रोगों में किए जाते हैं। हमारे बहुत ऐसे भी दोस्त हैं जो बस इतना ही समझते हैं कि पुदीने का चटनी काफी स्वादिष्ट होता है। कुछ लोग तो ऐसे ही अपना पसंदीदा चटनी के रूप में मानते हैं।

दोस्तों, आयुर्वेद में पुदीने का काफी महत्वपूर्ण योगदान है शायद आपको पता नहीं होगा कि पुदीने से कितना लाभ है, आइए हम एक-एक करके जानने का प्रयास करते हैं।

पुदीना बाल झड़ने से रोकता है

पुदीना का इस्तेमाल करने वाले लोगों के बाल झड़ने की समस्या धीरे-धीरे ठीक होने लगते हैं। बहुत से लोगों को बालों में रूसी होने के कारण उनका बाल टूटने लगते हैं। पुदीने बाल को प्राकृतिक रूप से बढ़ने में मदद करते हैं।

दांत दर्द की समस्या में पुदीने का प्रयोग

यदि कोई व्यक्ति दांत दर्द की समस्या से पीड़ित है तो वह पुदीने के पत्ते को उंगली से दांत पर रगड़ दे तो दांत की समस्या में राहत मिलने लगती है। पुदीने का यह औषधीय गुण है जिसके कारण हुआ दांत दर्द को आराम कर देता है।

मुंह में छाला होने पर पुदीने का उपयोग

यदि आपके मुंह में छाले पड़ जाए तो आप पुदीने का प्रयोग कर सकते हैं, कुछ दिनों तक इसका प्रयोग करने से आपके मुंह के छाले पूर्ण रूप से ठीक हो जाते हैं।

कान दर्द में पुदीने का प्रयोग

कान संबंधित समस्याओं में पुदीने का प्रयोग किए जाते हैं। आयुर्वेदिक चिकित्सक का कहना है कि कान में दर्द होने पर पुदीने के पत्ते से रस निकालकर एक से दो बूंद कान में दे देने पर दर्द से राहत मिलने लगते हैं। कुछ समय के बाद कान दर्द आराम हो जाता है।

सिर दर्द में पुदीने की चाय लाभकारी

यदि आपके पाचन तंत्र खराब है जिसके कारण हमेशा सिर दर्द की समस्या बनी रहती है ऐसे में पुदीने का चाय काफी फायदेमंद साबित हो सकती है। क्योंकि पुदीने हाजमा को दुरुस्त करने में मददगार औषधि है इसका उपयोग करने से पाचन तंत्र मजबूत होते हैं।

पेट गड़बड़ी में पुदीना का प्रयोग

पेट गड़बड़ी के स्थिति में पुदीने का उपयोग किया जा सकता है। जैसा कि पहले ही बताया गया है कि पुदीना पाचन तंत्र को मजबूत करता है इसलिए इसका नित्य उपयोग करने से पेट गड़बड़ी की समस्या में सुधार आने लगती है। दस्त तथा पेचिश के समस्या से पीड़ित रोगियों को आयुर्वेदिक चिकित्सक पुदीना का इस्तेमाल करने का सलाह देते हैं।

अपच की समस्या में कारगर

यदि आप अपच की समस्या से परेशान है तो आपको पुदीने का सेवन अवश्य ही करना चाहिए। या आपके पाचन तंत्र को मजबूत करके हाजमा को दुरुस्त करने में मददगार औषधि है।

Benefits of Pudina
Benefits of Pudina

>>>>>>>>>>>>>>>>>>

Disclaimer– यह जानकारी इंटरनेट के माध्यम से शिक्षा के उद्देश्य आप तक पहुंचाने का प्रयास किया गया है।

कोई भी दवा लेने से पहले योग्य आयुर्वेदिक चिकित्सक से जरूर सलाह लें, क्योंकि रोगियों के दशा उम्र रोक की प्रकृति के अनुसार चिकित्सा की जाती है। एक रोग के लिए एक से अधिक रोगियों को दवा देने की तरीका भिन्न-भिन्न हो सकती है।

अतः अधिक जानकारी के लिए आप विशेषज्ञ या फिर चिकित्सक से परामर्श ले सकते हैं। Newsviralsk.com इस जानकारी के लिए जिम्मेवारी का दावा नहीं करता है।


घरेलू उपचार से संबंधित लेख पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here