Home Motivational story Motivational Story Prayas Karo Tamasha Nahin Dekho : प्रयास करो तमाशा नहीं...

Motivational Story Prayas Karo Tamasha Nahin Dekho : प्रयास करो तमाशा नहीं देखो

315
0
SHARE
Motivational Story Prayas Karo Tamasha Nahin Dekho
Motivational Story Prayas Karo Tamasha Nahin Dekho

Motivational Story Prayas Karo Tamasha Nahin Dekho : प्रयास करो तमाशा नहीं देखो

एजुकेशनल पोर्टल newsviral sk में बहुत-बहुत स्वागत है। दोस्तों यदि आप गूगल में सर्च कर रहे हैं motivational story, moral story in Hindi, rochak Hindi kahaniyan तो आप सही जगह पर आए हैं।

आज के इस कहानी में आप पढ़ने वाले हैं एक छोटी सी चिड़िया की कहानी जो बहुत बड़ी सीख दे रही है। हमें छोटी छोटी चीजों से कभी-कभी बहुत बड़ी सीख प्राप्त होती है।

मनुष्य को इसे गहराई से समझना चाहिए, और परिस्थिति के अनुकूल चलने का प्रयास करना चाहिए। चलिए शुरू करते हैं, छोटे सी कहानी, चिड़िया की हिम्मत

चिड़िया- प्रयास करो, तमाशा नहीं देखो

किसी गांव में आग लगी थी। गांव के लोग घरों से सामान निकाल कर इधर उधर भाग रहे थे। अफरा तफरी मच गया था। लोगों को समझ में नहीं आ रहा था कि इस विषम परिस्थिति में क्या किया जाए।

आग एक के बाद दूसरे तथा दूसरे के बाद तीसरे घरों को जलाकर राख कर रहे थे। देखा जाता है कि आगजनी के इस परिस्थिति में सूझबूझ काम करना छोड़ देता है।

लोगों को कुछ समझ में ही नहीं आ रहा था कि इस विषम परिस्थिति में क्या किया जाए। आग इतना प्रचंड था कि उसके सामने हिम्मत ही नहीं जुटा सकते थे, लोग..

उसी बीच एक छोटी सी चिड़िया अपनी चोंच में पानी लेकर आग के ऊपर बुझाने के लिए बार-बार डाल रही थी। भला उस छोटी सी चिड़िया के चोंच से आग बुझ सकती है। किंतु वह छोटी सी चिड़िया बार-बार पानी लाकर चोंच से आग बुझा रही थी।

यह काम करते हुए एक बूढ़ा व्यक्ति देखा, और उसे हिम्मत आई उसने कहा – “एक छोटी सी चिड़िया प्रयास कर सकता है तो हम लोग इंसान हैं।”

उस बूढ़े व्यक्ति की बातों को सबों ने पालन किया और आग बुझाने में जुट गए तथा कुछ ही घंटे में आग बुझ गई।

यह सब तमाशा काला कौवा बैठकर देख रहा था।
चिड़िया को आग बुझा कर वापस लौटते ही कौवा कहने लगे।
यह बात तुम्हें भी पता है कि तुम्हारे पानी से आग नहीं बुझ सकती थी तो तुमने ऐसा क्यों किया?
क्या तुम्हारी चोंच के पानी से आग बुझी है?

छोटी सी चिड़िया ने गजब का जवाब दिये

मेरे पानी डालने से आग बुझी या नहीं बुझी, मुझे पता नहीं, किंतु मुझे बहुत गर्व है कि जब आग बुझाने वाले का नाम आएगा, तो उसमें मेरा भी नाम लिया जाएगा।

ऐ काले कलूटे कौवे तेरे जैसे तमाशा देखने वाले लोगों में मेरा नाम नहीं होगा।

सीख- इस कहानी से आपको क्या शिक्षा मिली। आप कमेंट के माध्यम से जरूर बताने का प्रयास करें।

यदि आपको अपनी लक्ष्य प्राप्त करना है तो प्रयास करें बैठ कर तमाशा देखने से आपको कुछ प्राप्त नहीं होने वाला है।

परीक्षा आपके बहुत निकट है और ऐसी स्थिति में आपको धैर्य, सकारात्मक सोच तथा विश्वास को डगमगाने से बचाना है।
परीक्षा के समय में आपको सही रणनीति बनाकर पढ़ने की आवश्यकता है। आपको सफल होने से कोई नहीं रोक सकता।

यदि आप बोर्ड परीक्षा में भाग लेने वाले हे तो हमारे साथ जुड़ सकते हैं। हम आपके लिए महत्वपूर्ण ऑब्जेक्टिव, सब्जेक्ट हस्तलिखित नोट्स लेकर हाजिर है।

Motivational Story Prayas Karo Tamasha Nahin Dekho
Motivational Story Prayas Karo Tamasha Nahin Dekho

>>>>>>>>>>>>>>

Read More

हिंदी कहानियां >>>>>> लेखक– राजहंस

जीवनी (Biography) >>>> लेखक– राजहंस


Hindi story by Rajhans Kumar
Hindi story by Rajhans Kumar Sammam patra

हिंदी कविता >>>>>  राजहंस


  • कविता & कहानियां पढ़ने के लिए   CLICK Here
  • करंट अफेयर्स —- CLICK Here
  • सामान्य ज्ञान (GK & GS) —  CLICK Here

Newsviralsk Mega Test
Newsviralsk mega test

नीचे दिए गए शेयर बटन पर क्लिक करके अपने दोस्तों के बीच शेयर कर सकते हैं। 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here