Home Motivational story Vikash Divyakirti Success Story: दबाव में आकर UPSC की परीक्षा क्रैक किए...

Vikash Divyakirti Success Story: दबाव में आकर UPSC की परीक्षा क्रैक किए पहले प्रयास में बने IAS, डॉ विकास दिव्यकीर्ति की सफलता की कहानी

590
0
SHARE
Vikash Divyakirti Success Story

Vikash Divyakirti Success Story: दबाव में आकर UPSC की परीक्षा क्रैक किए पहले प्रयास में बने IAS, डॉ विकास दिव्यकीर्ति की सफलता की कहानी

Success Story: एजुकेशनल पोर्टल में आपका बहुत-बहुत स्वागत है, दोस्तों आज हम एक ऐसे व्यक्ति के बारे में बताने वाले हैं जो एक IAS ऑफिसर बनने के बाद इस्तीफा देकर बने IAS कोचिंग के लिए प्रसिद्ध संस्थान “दृष्टि” के फाउंडर।

दोस्तों अभी के समय में लोग IAS की पढ़ाई करने के लिए दिल्ली की तरफ रूख कर रहे हैं। आप दिल्ली में IAS कोचिंग के लिए प्रसिद्ध संस्थान दृष्टि के बारे में अवश्य सुने होंगे। आज हम उसी के फाउंडर डॉक्टर दिव्या कृति सर के बारे में जानकारी लेकर हाजिर है।

डॉ विकास दिव्यकीर्ति यूट्यूब से लेकर सोशल मीडिया पर अपने ज्ञान और प्रेरणादायक विचार से छात्रों को काफी प्रभावित करते हैं। किंतु सच तो यह है कि किसी जमाने में वह भी एक IAS ऑफिसर हुआ करते थे। आज हम बताने वाले हैं कि वह क्यों इस प्रतिष्ठित नौकरी से इस्तीफा देकर कोचिंग संस्थान चला रहे हैं।

डॉ विकास दिव्यकीर्ति देश के लोकप्रिय शिक्षकों में से एक माने जाते हैं। उनका पढ़ने का तरीका ही कुछ अलग है जिस कारण उनकी कोचिंग संस्थान से हर वर्ष कई छात्र यूपीएससी की परीक्षा में सफल होते हैं। सबसे खास बात यह है कि वह अपने टीचिंग प्रोफेशन में आने के लिए प्रतिष्ठित नौकरी को भी त्याग दिए है। समाज कल्याण के लिए इतना बड़ा त्याग…..

उनके माता-पिता हिंदी साहित्य के प्रोफेसर , इस कारण हिंदी भाषा में शुरुआती दिनों से ही विकास सर का लगाव रहा है उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से हिंदी साहित्य में पीएचडी की। शुरुआती दिनों से ही उन्हें पढ़ने में काफी अच्छा लगता था। इसी कारण पीएचडी पूरी होने के बाद वह टीचिंग करियर की शुरुआत दिल्ली विश्वविद्यालय से ही कर दी।

Vikas Divyakirti Motivational Quotes in Hindi
Vikas Divyakirti Motivational Quotes in Hindi

डीएनए की रिपोर्ट के अनुसार, IAS के रूप में डॉ विकास दिव्यकीर्ति गृह मंत्रालय में पोस्टिंग थे, लेकिन, एक साल के अंदर ही उन्होंने इस रुतबे वाली सरकारी नौकरी से इस्तीफा दे दिया।

डॉ विकास दिव्यकीर्ति हमेशा कुछ अलग करने के विचार में रहते थे शुरुआती दिनों में आईएएस कोचिंग संस्थान दृष्टि के लिए फैसला लेना काफी मुश्किल था। वह ऐसा संस्थान स्थापित करना चाहता था जो समाज पर गहरा प्रभाव छोड़ें हुए अधिक से अधिक युवाओं को सिविल सर्विस जैसी नौकरियों के लिए तैयार कर सकें। नौकरी छोड़ने के बाद वह 1999 में दिल्ली में दृष्टि आईएएस क्लासेस शुरू कर दी। आज के समय में यह संस्थान पूरे देश भर में प्रसिद्ध है।

पहले तो उन्होंने ऑफलाइन क्लासेस स्टार्ट किया किंतु 2017 में ऑनलाइन ट्यूशन की भी व्यवस्था कर दी। आज के समय में सोशल मीडिया पर उनके काफी चाहने वाले हैं ।‌ यूट्यूब पर एक करोड़ से भी अधिक सब्सक्राइबर्स हैं।

100+ Vikas Divyakirti Motivational Quotes in Hindi | विकास दिव्याकृति के अनमोल विचार

 

Read More

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here