Home blog New Blog ko Google Me Rank Kaise Karaye | ब्लॉग को गूगल...

New Blog ko Google Me Rank Kaise Karaye | ब्लॉग को गूगल में रैंक करवाने के लिए क्या करें

190
0
SHARE
New Blog ko Google Me Rank Kaise Karaye
New Blog ko Google Me Rank Kaise Karaye

New Blog ko Google Me Rank Kaise Karaye | ब्लॉग को गूगल में रैंक करवाने के लिए क्या करें: एजुकेशन पोर्टल NewsViralSK में आपका बहुत-बहुत स्वागत है। क्या आप Google Ranking तथा Website या Blog Post के Indexing की समस्या से परेशान है? तो यह पोस्ट आपके लिए है….
हम आपके साथ शेयर करने वाले हैं ब्लॉग को Google Search में रैंंक कराने से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां।

दोस्तों,  यदि आप एक नया वेबसाइट बनाए हैं, Search Engine Optimization (SEO) के बारे में आपको जानकारी नहीं है। आपके वेबसाइट गूगल में Rank नहीं कर रहा है, तो इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप समझ जाएंगे कि किसी भी वेबसाइट को गूगल में कैसे Rank करवाते है। दोस्तों, इस लेख में हम आपको गूगल में रैंक कराने की टिप्स बताने वाले हैं।

Contents

New Blog ko Google Me Rank Kaise Karaye | ब्लॉग को गूगल में रैंक करवाने के लिए क्या करें

मोटे तौर पर देखा जाए तो किसी भी ब्लॉग को रैंक करवाने के लिए वह ब्लोग User Friendly Design में होना चाहिए,  Proper Keyword Research करना,  High Quality Content अपने वेबसाइट पर पब्लिश्ड करना, Social Media का सही इस्तेमाल करना, दूसरे वेबसाइट पर Guest Post करना, अपने ब्लॉग पर Blog list वाली पोस्ट पब्लिश करना,  Join Forums & Q&A Websites, Build Trust, backeline अधिक से अधिक बनाना।

चलिए दोस्तों हम जानते हैं एक नए ब्लॉग को रंग कराने के लिए किन किन बातों पर ध्यान देना होता है—

सही Domain Name का चुनाव

कोई भी वेबसाइट बनाने से पहले आपको सबसे पहला काम एक सही Domain Name का चुनाव करना चाहिए। डोमिन का चुनाव करते समय आपको टॉप लेवल का डोमेन Top Level Domain खरीदना चाहिए। आप अपनी वेबसाइट के लिए .Com, .in, .net, .org आदि डोमेन का चुनाव करें।

Domain Name खरीदते समय  आपके डोमेन में keyword होना ही चाहिए। कहने का मतलब सर्च इंजन ऑप्टिमाइज्ड  Domain Name से आपकी वेबसाइट Rank होने की संभावना काफी अधिक बढ़ जाती है। किसी विशेष Niche  को टारगेट करते हुए  Domain Name लेना चाहिए।

इसे भी पढ़ें —  Seo Friendly Article लिखने का यही है सही तरीका | Write SEO Friendly Article

Google Search Console में Sitemap Submit करना

गूगल को अपने वेबसाइट के स्ट्रक्चर समझाने के लिए Google Search Console में Sitemap Submit  जरूर करना चाहिए। इससे वेबसाइट पोस्ट गूगल में आसानी से इंडेक्स होने लगते हैं। गूगल के अतिरिक्त आपको दूसरे वेबमास्टर टूल जैसे की Bing, Yandex आदि में साइटमैप सबमिट करना आवश्यक है। वेबसाइट का पोस्ट गूगल में इंडेक्स होने के बाद धीरे-धीरे आपके वेबसाइट पर ट्राफिक आना शुरू हो जाता है। इसलिए वेबसाइट के लिए गूगल सर्च कंसोल का काफी महत्व है।

Money Earning Tips and Tricks 2022
Money Earning Tips and Tricks

अपने ब्लॉग पर नियमित पोस्ट लिखें

आपको अपने ब्लॉग पर नियमित रूप से पोस्ट डालते रहना है, इससे गूगल के नजर में आपकी वेबसाइट का ट्रस्ट बढ़ने लगता है, इसके बाद गूगल आपकी वेबसाइट को यूज़र तक पहुंचाने में मदद करने लगता है। आपसे आग्रह है कि आप अपने ब्लॉग पर अधिक से अधिक पोस्ट पब्लिश्ड करें। धीरे-धीरे आपकी वेबसाइट को गूगल Higher Ranking करने लगता है।

Quality Content लिखना

यदि आप अपनी वेबसाइट पर Quality Content नहीं लिखते हैं तो गूगल के पहले पेज पर आने में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ जाता है। कहने का मतलब आप अपने वेबसाइट पर ऐसा पोस्ट लिखें जिसे पढ़ने के बाद यूजर को अन्य दूसरी वेबसाइट पर जाने की आवश्यकता ही ना पड़े।

Quality Content में आप यूजर द्वारा पूछे जाने वाले सभी प्रश्नों का जवाब देने का प्रयास करें इससे आपकी वेबसाइट की पोस्ट का इंगेजमेंट अच्छा रहता है, और विजिटर का इंगेजमेंट अच्छा होने के कारण गूगल समझ जाता है कि इसकी वेबसाइट पर विजिटर अधिक देर तक ठहरता है,
और फिर आपकी वेबसाइट को टॉप में रखने का प्रयास करता है।
अतः आपको हमेशा क्वालिटी कंटेंट अपने वेबसाइट पर पब्लिश्ड करने की आवश्यकता है।

क्वालिटी कंटेंट बनाते समय आपको कीवर्ड रिसर्च करना चाहिए। कीवर्ड रिसर्च करने के बाद यदि आप पोस्ट तैयार करते हैं तो उस पोस्ट को गूगल में इंडेक्सिंग होने में काफी कम समय लगता है क्योंकि आपको पता होता है कि इस कंटेंट का गूगल सर्च में कमी है इस स्थिति में गूगल आप के कंटेंट को जल्द से जल्द इंडेक्स करने का प्रयास करते हैं।

इसे भी पढ़ें — Free keyword Research Tool for blogger : Free में कीवर्ड रिसर्च

Earn money online without investment

वेबसाइट को Google Search Console में Submit करना

नए ब्लॉग पोस्ट को Google के Bots  द्वारा क्रॉल करने में थोरा समय लगता है, जब Google Search में किसी पोस्ट Index करने में लगभग 1 महीने का भी समय लग सकता है। किंतु जैसे-जैसे आपका वेबसाइट पुराना होता जाता है इंडेक्सिंग होने का समय अवधि कम होता जाता है। और 1 दिन ऐसा आता है जब आपकी वेबसाइट का पोस्ट 24 घंटे के अंदर Index होने लगते हैं। कुछ तो ऐसे भी पोस्ट हो जाते हैं जो घंटों में गूगल में Index होने लगते हैं।

आप गूगल में अपने Indexed Pages को इस प्रकार देख सकते हैं
Site:yoursiteurl.com को गूगल में Search कर सकते हैं। yoursiteurl.com के जगह पर अपनी वेबसाइट का नाम रखना है। ऐसा करने के बाद गूगल में आपका कौन सा पेज Index हो रहा है उसका लिंक सामने दिखने लगता है।

आपके वेबसाइट का Domain Authority यदि कम होता है तो पोस्ट को इंडेक्स होने में समय कम लगता है, जबकि जैसे-जैसे Domain Authority बढ़ता जाता है आपके वेबसाइट का पोस्ट जल्दी से इंडेक्स होने लगते हैं।

अपनी वेबसाइट का डोमेन अथॉरिटी बढ़ाने के लिए प्रतिदिन ब्लॉग वेबसाइट पर पोस्ट प्रकाशित करते रहना है। जितना अधिक वेबसाइट पर पोस्ट पब्लिश्ड करेंगे आपकी वेबसाइट के प्रति गूगल का ट्रस्ट बढ़ता जाएगा और फिर आपके वेबसाइट गूगल में भी रैंक करने लग जाएंगे।

Quality Content के मुख्य पहलू

वेबसाइट पर Quality Content पब्लिश्ड करें , Article खुद से लिखे, कहीं से Copy Paste ना करें। यदि आप अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक लाना चाहते हैं तो आर्टिकल के बीच में अन्य पोस्ट का भी लिंक को ऐड करें अर्थात इंटरलिंकिंग करने से आपके वेबसाइट पर ट्रैफिक बढ़ सकता है। पोस्ट को अच्छे से फॉर्मेट करके बनाने का प्रयास करें। इंटरलिंकिंग करने से आपकी वेबसाइट पर यूज़र का इंगेजमेंट बढ़ जाती है जिससे वेबसाइट का रैंकिंग भी बढ़ने लगते हैं। गूगल इतना स्मार्ट हो चुका है कि यदि आप किसी का कंटेंट चोरी करते हैं तो आप कभी भी अपने पोस्ट को रैंक नहीं करा सकते हैं। इसलिए यदि आप गूगल से पैसा कमाना चाहते हैं या फिर गूगल के सर्च रिजल्ट में अपने आप को टॉप में देखना चाहते हैं तो आप हमेशा यूनीक कंटेंट लिखने का प्रयास करें।

अपने आर्टिकल का Title और Description में आकर्षक शब्दों का प्रयोग

जब आप अपने आर्टिकल का Title बनाते हैं तो इसके लिए आप आकर्षक शब्द का प्रयोग करें साथ ही इस प्रकार के शब्दों को आर्टिकल के पहले पैराग्राफ में भी रखने का प्रयास करें। आकर्षक Title बनाने से आपके वेबसाइट का CTR बढ़ जाता है, अर्थात क्लिक होने की संभावना काफी अधिक बढ़ जाती है और आपका पोस्ट गूगल में रैंग करने लगते हैं।

Low Competition Keywords का चुनाव करें

ब्लॉगिंग फिल्ड में काफी कंपटीशन है, देखा जाता है कि प्रत्येक दिन हजारों की तादाद में ब्लॉग पोस्ट पब्लिश्ड किए जा रहे हैं तथा गूगल के द्वारा उस पोस्ट को इंडेक्स भी किया जा रहा है। इस स्थिति में यदि आप एक ब्लॉगर हैं तो आपको लो कंपटीशन वाले कीवर्ड Low Competition Keywords को टारगेट करना होगा।

Low Competition Keywords पर इसलिए काम करना अच्छा रहता है क्योंकि इसके ऊपर अधिक मात्रा में पोस्ट नहीं होते हैं, जिससे आपका पोस्ट आसानी से जल्दी गूगल में इंडेक्स हो जाते हैं और आपको उस पोस्ट के माध्यम से ट्रैफिक आना शुरू हो जाता है।

इसके लिए आप कीवर्ड रिसर्च टूल का भी प्रयोग कर सकते हैं अब यहां पर कीवर्ड रिसर्च टूल दो प्रकार के होते हैं एक तो paid तथा दूसरा Free वाला, यदि फ्री वाले कीवर्ड रिसर्च टूल के बारे में बात करें तो Google Keyword Planner tool सबसे अच्छा होता है।

इसे भी पढ़ें — ब्लॉगिंग से पैसे कैसे कमाए | Blogging Se Paise Kaise Kamaye पूरी जानकारी हिंदी में

SEO (Search Engine Optimization) Techniques का प्रयोग करना

Search Engine Optimization का किसी वेबसाइट के लिए काफी महत्व होता है। SEO के द्वारा हम अपने वेबसाइट को सर्च इंजन के लिए ऑप्टिमाइज करते हैं। यदि आप वर्डप्रेस के यूजर हैं तो इसके लिए SEO Plugin का उपयोग किया जा सकता है साथ ही आप अपने अनुभव को भी Implement कर सकते हैं।

Search Engine Optimization में आपको अपने आर्टिकल के टाइटल, डिस्क्रिप्शन, Heading तथा Paragraphs में Focus Keyword का प्रयोग करना पड़ता है। अपने लेख में जो इमेज का प्रयोग करते हैं उस इमेज का भी SEO जरूर करें।
इमेज में आपको Alt Tag निश्चित रूप से प्रयोग करना है। Broken Link को अपनी वेबसाइट से हटा दें या फिर उसे संबंधित पोस्ट के साथ लिंक कर दें। अपने ब्लॉग पोस्ट में आपको Table of Contents का प्रयोग निश्चित रूप से करना है।

Mobile Friendly वेबसाइट बनाएं

अभी के समय में ऐसा देखा जा रहा है कि 80% से अधिक लोग मोबाइल फोन के माध्यम से वेबसाइट को विजिट करते हैं, ऐसे में आपको मोबाइल फ्रेंडली वेबसाइट बनाने की आवश्यकता है। आपको अपना वेबसाइट मोबाइल के अनुकूल बनाना है ताकि वह एक स्मार्टफोन पर आसानी से काम कर सके।

मोबाइल फ्रेंडली वेबसाइट बनाने के लिए आपको अपनी वेबसाइट के Theme या Template सोच समझकर चुनना होगा। यदि आप के वेबसाइट का थीम मोबाइल फ्रेंडली है तो फिर आप अपनी वेबसाइट में इसका प्रयोग कर सकते हैं।

आप गूगल के Mobile Friendly Testing Tool का उपयोग करके पता कर सकते हैं कि यह थीम मोबाइल फ्रेंडली है अथवा नहीं।

इसे भी पढ़ें– Best way to Earn $200/Month from Google | Make money online

Top keywords List Free Download
Earn money online Top keywords List Free Download

 

अपने Article को Social Media पर शेयर करना

किसी भी नई वेबसाइट पर ट्रैफिक प्राप्त करने के लिए शुरुआती दिनों में आपको सोशल मीडिया का सहारा लेना ही पड़ता है। इसके लिए आप एक उदाहरण को समझ सकते हैं।

माना कि आप एक नई दुकान खोले हैं आपके दुकान में सभी समान होने के बावजूद भी दुकान खोलने के पश्चात सीधे दुकान चलना शुरू नहीं होता। इसके लिए आपको थोड़ा इंतजार करना पड़ता है आप अपनी दुकान का प्रचार प्रसार करवाते हैं। इसके लिए आप समय के अनुसार बैनर, पोस्टर तथा सोशल मीडिया का भी सहारा लेते हैं, तब जाकर के धीरे-धीरे आपके दुकान पर ग्राहक आना शुरू हो जाता है।

ठीक उसी प्रकार यदि आप नया वेबसाइट बनाते हैं तो सबसे पहली बात तो वह गूगल के नजर में बिल्कुल नया है दूसरी बात यूजर को आपके वेबसाइट के बारे में कोई जानकारी नहीं है। वेबसाइट नया होने के कारण आपकी वेबसाइट का पोस्ट भी काफी समय लेकर रैंक करता है।

ऊपर बताए गए उदाहरण से आपको समझ में आ गया होगा कि किसी भी नए वेबसाइट पर ट्रैफिक प्राप्त करने के लिए उसे सोशल मीडिया पर शेयर करना पड़ता है। आपको अपने वेबसाइट के लिए दूसरे दूसरे वेबसाइट पर जाकर लिंक बनाना पड़ता है।

जब आप मेहनत करते हैं आप अपनी वेबसाइट पर रेगुलर पोस्ट करते हैं तो गूगल को पता चल जाता है कि आपकी वेबसाइट पर काम हो रहा है। आप यूजर के लिए अच्छे-अच्छे कंटेंट ला रहे हैं तब जाकर आपके वेबसाइट का पोस्ट जल्दी-जल्दी इंडेक्स होने लगता है साथ ही गूगल द्वारा आपकी वेबसाइट के रैंकिंग को भी improve कर दिया जाता है।

Read More– Money Earning Tips and Tricks 2022: बिना पैसे इन्वेस्ट किए मोबाइल से पैसा कमाना चाहते हैं, संपूर्ण जानकारी

High Quality Backlink बनाना

आपके वेबसाइट के लिए External Backlinks काफी महत्व रखता है। जब गूगल किसी यूज़र के कीवर्ड को इंटेक्स करने का प्रयास करता है तो उस समय गूगल यह देखता है की कौन सा पेज जिस पर यूज़र अधिक समय बिता रहे हैं साथ ही उस पेज को कितनी अधिक वेबसाइट पर लिंकिंग किया गया है।

इन सभी फैक्टर्स को ध्यान में रखते हुए गूगल आपके पोस्ट को इंडेक्स करते हैं। वैसे गूगल का अपना एल्गोरिदम है जिसकी सहायता से वह आपके पोस्ट को इंटेक्स करता है और यह सीक्रेट किसी को भी पता नहीं होता। फिर भी हम लोग अनुमान के आधार पर अपने पोस्ट का सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन करते हैं।

यदि कोई वेबसाइट आपकी वेबसाइट को Dofollow Backlink प्रदान करता है, इससे यह अर्थ निकल कर सामने आता है कि वह आपकी वेबसाइट का समर्थन करता है और इसी के आधार पर गूगल आपके ब्लॉग पोस्ट को रैंक करता है। वैसे जितना Dofollow Backlink का महत्व है उतना ही Nofollow Backlink , क्योंकि आपकी वेबसाइट के लिए दोनों प्रकार के बैकलिंक्स होना आवश्यक है।

हाई क्वालिटी बैकलिंक्स बनाने के लिए आप हाई अथॉरिटी वाले वेबसाइट पर Guest Post कर सकते हैं, आप अपनी वेबसाइट के लिए प्रोफाइल बैकलिंक्स भी बना सकते हैं, अपनी वेबसाइट पर सोशल सिगनल्स की संख्या भी बढाना अभी के समय में काफी फायदेमंद होता है, web 2.0 आप Backlink बना सकते हैं। और सबसे आसान तरीका आप कमेंट Backlink बनाकर के भी अपनी वेबसाइट पर ट्रैफिक को ड्राइव कर सकते हैं।

New Blog ko Google Me Rank Kaise Karaye
New Blog ko Google Me Rank Kaise Karaye

निष्कर्ष

New Blog ko Google Me Rank Kaise Karaye | ब्लॉग को गूगल में रैंक करवाने क्या करें:– यह लेख काफी रिसर्च के बाद हम आपके बीच लाए हैं। आशा करते हैं यह लेख आपको काफी पसंद आया होगा। यदि आपके पास कोई Blog Website है जिस पर ट्रैफिक नहीं आ रहा है इस लेख में बताए गए तरीके को अपनाकर आप अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक ला सकते हैं। यदि आप अपना कोई विचार साझा करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए कमेंट बॉक्स में आप अपने विचार को लिख डालिए। आपका दिन शुभ हो, बहुत-बहुत धन्यवाद

ऑनलाइन पैसा कमाने से संबंधित पोस्ट पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें–

how to earn money online in india without investment Blogging is the best


कंप्यूटर से संबंधित जानकारियों के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर सकते हैं।

Computer kya hai


बीमा से संबंधित जानकारियों के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर सकते हैं।

What is term insurance in Hindi
What is term insurance in Hindi

Technology से संबंधित जानकारियों के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक कर सकते हैं।

Have a Nice Day

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here