Home Insurance Personal दुर्घटना बीमा का होना है जरूरी | Insurance : Personal Durghatna...

Personal दुर्घटना बीमा का होना है जरूरी | Insurance : Personal Durghatna Bima Ka Hona Jaroori

1043
2
SHARE
Insurance : Personal Durghatna Bima Ka Hona Jaroori
Insurance : Personal Durghatna Bima Ka Hona Jaroori

Personal दुर्घटना बीमा का होना है जरूरी : Insurance : Personal Durghatna Bima Ka Hona Jaroori अधिकतर लोग General Life Insurance (सामान्य जीवन बीमा) और Health Insurance (स्वास्थ्य बीमा) योजना के बारे तो जानते ही है, लेकिन व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा के बारे में जानकारी थोड़ी सी कम होती है।

एक General Life Insurance (सामान्य जीवन बीमा) पॉलिसी में मृत्यु से होने वाली हानि और Health Insurance (स्वास्थ्य बीमा) योजना में अस्पताल में भर्ती हो जाने पर किए गए खर्चे के भार से राहत मिलती है। लेकिन, क्या आप जानते हैं कि व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा का मुख्य उद्देश्य क्या होता है?

तो आइए जानने की कोशिश करते हैं, मान लीजिए कि कोई व्यक्ति किसी दुर्घटना में यदि शारीरिक रूप से विकलांग हो गया है। इस स्थिति में Life Insurance (जीवन बीमा) का लाभ केवल बीमित के (पीड़ित पे निर्भर व्यक्तियों को ) मृत्यु होने पर ही मिलता है वही Health Insurance (हेल्थ बीमा) पॉलिसी में केवल अस्पताल में खर्चों से आने वाली लागत की भरपाई की जाती है।

कुछ Life Insurance (जीवन बीमा) पॉलिसी में व्यक्तिगत दुर्घटना अतिरिक्त लाभ के रूप में प्रदान करती हैं, लेकिन यह अतिरिक्त लाभ उतने व्यापक नहीं होते। इसके अलावा दुर्घटना से होने वाले प्रभाव जैसे कि – मृत्यु, आय पर पड़ने वाले प्रभाव गंभीर भी हो सकते हैं, जो कुछ हफ्तों से लेकर कुछ माह या कुछ वर्षों तक भी प्रभावी हो सकते हैं। इस स्थिति में व्यक्तिगत दुर्घटना पॉलिसी से क्या उपचार हो सकता है?

आम तौर पर एक व्यक्तिगत दुर्घटना पॉलिसी वह बीमा योजना होती है जिसमें किसी भी प्रकार की दुर्घटना घटने की स्थिति में कोई शारीरिक नुकसान जैसे आंशिक या पूर्ण रूप से अपंगता या अंग-भंग और इसके कारण सीधे तौर पर आय पर पड़ने वाले दुष्प्रभाव की क्षति पूर्ति करती हैं।

इस पॉलिसी में नामित व्यक्ति को Insurance धारक की मृत्यु होने की स्थिति में भी क्षतिपूर्ति की जाती है। इसके अलावा यह किसी व्यक्ति और उसके परिवार को, दुर्घटना के कारण होने वाले बीमा धारक के अस्थायी रूप से विकलांग की स्थिति में भी एक वित्तीय स्थिरता प्रदान करती है और इसकी इसी विशेषता के कारण कोई भी व्यक्ति बीमा लेने के उद्देश्य से आकर्षित होती है।

बहुत सी समानता होने के बाद भी, व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा, General Life Insurance (सामान्य जीवन बीमा) और Health Insurance (स्वास्थ्य बीमा) में काफी अंतर होता है। Life Insurance (जीवन बीमा) की भांति, व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा का प्रीमियम बीमा धारक के व्यवसाय के आधार पर अलग – अलग हो सकता है न कि उसकी आयु के आधार पर निर्धारित होगा।

व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा हर व्यक्ति के लिए जरूरी होता है लेकिन यह शहर में रहने वाले कर्मचारियों के लिए ज्यादा महत्वपूर्ण होता है। साधारणतया वेतनभोगी कर्मचारी को घर और  ऑफिस के बीच कई दिनों, महीनों और वर्षों तक लगातार आना-जाना पड़ता है। इस तरह की जीवनशैली में बीमार पड़ने या मृत्यु की अपेक्षा दुर्घटना होने की संभावना अधिक होती है।

बहुत सावधानी बरतने के बावजूद भी कभी-कभी दुर्घटना घट ही जाती है। जिसके कारण आंशिक रूप से अंगभंग या फिर मृत्यु भी हो जाती है। इस प्रकार की स्थिति में, एक दुर्घटना बीमा पॉलिसी, एक सामान्य जीवन बीमा और एक स्वास्थ्य बीमा ही महत्वपूर्ण होती है।

यह भी सही है कि व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा में प्रीमियम बहुत कम दर का होता है लेकिन इसके बाद भी भारत में अभी लोग इस बीमा योजना को कम मात्रा में लेते हैं। दरअसल व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा की विशेषताएँ, जीवन बीमा और हेल्थ बीमा के साथ मिली-जुली हैं। क्योंकि अब अधिकतर व्यक्तियों के पास इनमें से एक या दोनों पॉलिसी मौजूद होती है इसलिए वे इसको व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा का विकल्प मानकर इस बीमा को एक अतिरिक्त खर्चा मानकर बचने का प्रयास करते हैं।

इस बीमा योजना को कम लेने का एक कारण यह भी है कि भारत में अभी भी इस बीमा योजना के बारे में बहुत कम लोग जानते है। ज्यादातर लोग गैर जीवन बीमा को हेल्थ बीमा या फिर मोटर बीमा के रूप में ही जानते हैं । अनेक लोगों को इस प्रकार की बीमा की जरूरत पड़ती है लेकिन वो इस प्रकार की बीमा योजना के बारे में शायद जानते तक नहीं हैं।

जिसके पास इस बीमा योजना की जानकारी हैं वो यह सोचते हैं कि उन्हें इसकी जरूरत ही नहीं। कुछ , लोग अपने बारे में अति-विश्वासी होते हैं जिसे लगता है कि उनके साथ कभी कोई दुर्घटना घट ही नहीं सकती। जबकि सत्य तो यह है दुर्घटना कभी भी, किसी के साथ, और कहीं भी, घट सकती है। हो सकता है कि हर किसी के साथ न भी घटे। इसलिए खुद और अपने परिवार को दुर्घटना के परिणाम से बचाने के लिए एक उपयुक्त व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा का होना लगभग जरूरी होता है।

Insurance से संबंधित जानकारियों के लिए निचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

Read More

Life Insurance आपके लिए क्यों जरूरी है | जीवन बीमा लेने का उचित समय

Insurance क्या है? यह कितने प्रकार के होते है? | Life insurance in Hindi

Debit card और Credit card में क्या अंतर है? संपूर्ण जानकारियां

Jai Hind

Insurance : Personal Durghatna Bima Ka Hona Jaroori
Insurance : Personal Durghatna Bima Ka Hona Jaroori

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here