Home Important Days Jivitputrika Vrat 2022: जितिया व्रत कब है, व्रत की विधि , दूध...

Jivitputrika Vrat 2022: जितिया व्रत कब है, व्रत की विधि , दूध से पारण करना रहेगा शुभ

771
0
SHARE

Jivitputrika Vrat 2022: जितिया व्रत कब है, व्रत की विधि , दूध से पारण करना रहेगा शुभ

Jivitputrika vrat 2022 :  जितिया व्रत आस्था का महापर्व है और यह पर्व कठिन व्रतों में से एक माना जाता है। इस पर्व का अनेक नाम है बिहार में इसे भिन्न-भिन्न नामों से जाना जाता है जैसे जीवित्पुत्रिका, जितिया, जिउतिया और ज्युतिया व्रत

जितिया व्रत माताएं अपने संतान के स्वास्थ्य तथा लंबी आयु हेतु निर्जला रखती है। यह पल विशेषकर बिहार, झारखंड तथा  उत्तर प्रदेश में मनाए जाते हैं। इस वर्ष बिहार में जितिया पर्व के तिथि को लेकर ऊहापोह  की स्थिति बनी हुई है।

पंडितों के अनुसार इस वर्ष व्रत आश्विन मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को जितिया का व्रत माताएं रखती है। इस बार जितिया व्रत 18 सितंबर 2022 को माताएं रखेगी तथा समापन 19 सितंबर 2022 को होगा। तथा व्रत का पारण 19 सितंबर  सोमवार को किया जाएगा।

आपको पता है कि जितिया व्रत माताएं निर्जला रखती है यह व्रत महिलाएं अपनी संतान की दीर्घायु और सुख समृद्धि हेतु करती है।

महिलाएं इस दिन सूर्योदय से पहले उठकर स्नान आदि से निमृत होकर पूजा पाठ करके पूरे दिन भर निर्जला व्रत रखती है तथा अगले दिन भगवान सूर्य को अर्घ्य देकर व्रत का पारण करती तत्पश्चात अन्य ग्रहण करती है।

मान्यताओं के अनुसार व्रत के पारण यानी तीसरे दिन मुख्य रूप से मरूवा की रोटी तथा नोनी का साग खाती हैं।

जितिया व्रत 18 सितंबर को किया जाए तो अष्टमी युक्त नवमी मिल जाती है साथ ही व्रत का पारण 19 सितंबर को सुबह 6 बजकर 38 के बाद किया जाएगा। पारण करने के लिए माताएं गाय के दूध ले सकती है यह उत्तम माना जाता है।

डिस्क्लेमर :सभी जानकारी इंटरनेट के माध्यम से ली गई है। तिथि से संबंधित कोई भी जानकारी, जितिया पर्व को लेकर यदि आपके मन में कोई प्रश्न उठता है तो पंडित से जरूर संपर्क करें।

Read More Jivitputrika Vrat : जितिया व्रत से पूर्ण होंगी मनोकामनाएं

अनमोल विचार को पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here