Home jac board exam latest news JAC 10th 12th Exam 2022 :  झारखंड बोर्ड मैट्रिक और इंटरमीडिएट परीक्षा...

JAC 10th 12th Exam 2022 :  झारखंड बोर्ड मैट्रिक और इंटरमीडिएट परीक्षा एक ही टर्म में होने की संभावना

791
0
SHARE
JAC 10th 12th Exam

JAC 10th 12th Exam 2022 :  झारखंड बोर्ड मैट्रिक और इंटरमीडिएट परीक्षा एक ही टर्म में होने की संभावना

JAC 10th 12th Exam 2022: झारखंड में मैट्रिक और इंटर की परीक्षाएं एक ही टर्म में होने की संभावना है। स्कूली शिक्षा व साक्षारता विभाग ने अपना तैयारी शुरू कर दी है कि प्रश्न ऑब्जेक्टिव पूछे जाएंगे या फिर  सब्जेक्टिव।

जानकारी के अनुसार मैट्रिक और इंटर की परीक्षाएं दो टर्म होने वाली थी। 1 दिसंबर से 15 दिसंबर 2021 तक वाले टर्म में ऑब्जेक्टिव तथा 1 मई से 15 मई 2022 तक दूसरा टर्म होने वाला था।

यदि कोरोना संक्रमण की स्थिति में सुधार होता है तब भी मार्च और मई महीने के बीच एक साथ एक बोर्ड के लिए दो परीक्षा का आयोजन ठीक नहीं रह सकता है। इसलिए अब एक ही टर्म की परीक्षा हो सकती है और इसी के आधार पर बोर्ड की ओर से मैट्रिक और इंटर  का रिजल्ट जारी किया जा सकता है।

झारखंड के स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग ने 2021 में मैट्रिक और इंटर के सिलेबस में से 25 फ़ीसदी की कटौती की थी। बाकी कुल 75 फ़ीसदी सिलेबस को दो भाग में बांट दिया था।

दो भाग में बांटे गए सिलेबस में पहले भाग की पढ़ाई नवंबर तक पूरी करने के बाद अगले महीने यानी दिसंबर में उसकी परीक्षा ओएमआर शीट पर होनी थी। साथ ही बच्चे अगले भाग का सिलेबस अप्रैल 2022 तक समाप्त कराने के बाद उसके लिखित परीक्षा मई महीने में लिया जाना था।

जो आधा सिलेबस में से ऑब्जेक्टिव प्रश्न पूछे जाने थे उसकी पढ़ाई नवंबर महीने में समाप्त हो चुकी है। अब परीक्षार्थी सब्जेक्टिव सिलेबस मे जो प्रश्न पूछा जाएगा उसके आधार पर तैयारी करने में लगे हैं। इसके साथ ही कोरोना की रफ्तार कम होने और स्थिति पहले जैसे सामान्य होने के बाद मार्च में पहले ओएमआर शीट पर परीक्षा देने में परीक्षार्थियों को परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

विद्यार्थी जिस सिलेबस को लगभग 3 महीने पहले पढ़ चुके हैं उसमें से प्रश्न का जवाब देना होगा और साथ ही फिर 1 महीने बाद अगले सिलेबस यानी सब्जेक्टिव प्रश्नों का लिखित रूप से जवाब देना होगा। इसलिए मैट्रिक और इंटर बोर्ड के परीक्षार्थियों पर अतिरिक्त दबाव देखने को मिल सकता है। इसलिए सरकार ने परीक्षा को 2 टर्म की बजाए एक ही टर्म में परीक्षा का आयोजन करवा सकती है।

हो सकता है कि इसमें या तो ऑब्जेक्टिव ओर सब्जेक्टिव सवाल एक ही साथ पूछ लिए जाएं या फिर ओएमआर शीट के माध्यम से ऑब्जेक्टिव सवाल के जवाब के आधार पर परीक्षा फल जारी कर सकता है, इसलिए विद्यार्थी को ऑब्जेक्टिव और सब्जेक्ट इन प्रश्नों के उत्तर के लिए तैयार रहना होगा।

जैक के अध्यक्ष या सरकार ले सकती है अंतिम निर्णय

बोर्ड परीक्षा को एक साथ 1 टन में आयोजन करने के लिए राज्य के सरकार या फिर जैक यानी झारखंड एकेडमिक काउंसिल के अध्यक्ष इस विषय में अंतिम निर्णय ले सकते हैं। यह 2 टर्म में परीक्षा लेने और शेड्यूल जारी करने के साथ-साथ सिलेबस में कटौती करना तक स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग के द्वारा किया गया था।

हालांकि जैक यानी झारखंड एकेडमिक काउंसिल के अध्यक्ष की नियुक्ति अभी तक नहीं की गई है, यदि जैक के अध्यक्ष की नियुक्ति सही समय पर हो जाती तो पहले से निर्धारित समय पर ही परीक्षा हो गई रहती। क्योंकि प्रश्न पत्र तैयार करना उसको छपवाने से लेकर परीक्षा के विषय में अंतिम निर्णय को गोपनीयता से लेना अध्यक्ष का काम होता है।

कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले के कारण 2021 में मैट्रिक और इंटर की परीक्षा का आयोजन नहीं किया जाना और नवमी से 11वीं कक्षा में प्रदर्शन के आधार पर रिजल्ट को तैयार करने का निर्णय मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के द्वारा लिया गया था।

JAC 10th 12th Exam latest news

Disclaimer newsviralsk image

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here