Home समाचार Shiva Daughters: कौन थीं भगवान शिव की 5 बेटियां, इनके नाम लेने...

Shiva Daughters: कौन थीं भगवान शिव की 5 बेटियां, इनके नाम लेने मात्र से यह फायदा होता है

34540
0
SHARE
Shiva Daughters

Shiva Daughters: कौन थीं भगवान शिव की 5 बेटियां, इनके नाम लेने मात्र से यह फायदा होता है

Shiva Daughters: भगवान शिव के परिवार की बात करें तो श्री गणेश और कार्तिकेय के विषय में सभी जानते हैं। ‌ बहुत कम ही लोगों को यह पता है कि भगवान शिव के पांच बेटियां भी है। आज के आर्टिकल में हम यह पढ़ने वाले हैं कि भगवान शिव के 5 बेटियां कौन है? भगवान शिव से इन्हें क्या वरदान प्राप्त है?

ज्योतिषाचार्य डॉ राधाकांत वत्स का कहना है कि गणेश, कार्तिकेय, अशोक सुंदरी, ज्योति, मनसा और जालंधर के अलावा भगवान शिव की 5 बेटियां भी थीं।
भक्त वृंदा आज हम उनके बताए हुए रहस्य को आप तक शेयर करने का प्रयास कर रहे हैं।

विद्वानों का मत है कि शिव पुराण में भगवान शिव और माता पार्वती के पुत्र के अलावे 5 पुत्रियां भी है।

ऐसा कहा जाता है कि जब भगवान शिव और माता पार्वती सरोवर में ध्यान मग्न थे, उस समय भोले दानी शंकर के मुख पर एक मंद मुस्कान आई।

तत्पश्चात भगवान शिव जी के मुस्कान से पांच मोती सरोवर में झरकर गिर गए और इन मोतियों से 5 कन्याओं का जन्म हुआ किंतु ये कन्याएं नाग रूप में जन्म ली।
इस बात का आभास भगवान शिव को हो गया किंतु माता पार्वती ध्यान मग्न होने के कारण उन्हें इस विषय में जानकारी नहीं मिली।

भोले दानी अपने अन्य संतानों की तरह इन 5 नाग कन्याओं को बेटी की जैसे ही मानते थे। प्रातः काल ब्रह्म मुहूर्त के समय इनके पास खेलने के लिए जाया करते थे। पुत्रियों पर पिता का प्रेम लुटाते…

माता पार्वती देखती है कि भोले दानी रोज सवेरे कहां जा रहे हैं। उनके मन में संदेह हुआ और एक दिन वह शंकर जी के साथ पीछे पीछे चले गए।

सरोवर के पास पहुंचकर भगवान शिव आपने पुत्रियों के ऊपर पिता की तरह अपार प्रेम लुटाते हुए देखी।‌ माता पार्वती को संदेह हुआ कि ये नागकन्याए भगवान शिव को आहात पहुंचा सकते हैं। क्योंकि उन्हें सच्चाई का पता था नहीं..

अंतर्यामी भगवान शिव माता पार्वती के मन में चल रहे सभी बातों को जान गए और फिर इन पांच बेटियों के बारे में सब कुछ बता दिए। इस प्रकार माता पार्वती को पांच नाग कन्याओं की माता होने की सत्यता का पता चला।

भगवान शिव की बेटियों के नाम

भगवान शिव की इन पांच नाग कन्याओं के नाम जया, विषहर, शामिलबारी, देव और दोतलि है।

भगवान शिव से अपनी पुत्रियों को विशेष वरदान प्राप्त है। जो व्यक्ति महादेव की पूजा के साथ साथ नाग कन्याओं की पूजन करते हैं तो उनके परिवार को कभी भी सर्पदंश का भय नहीं रहेगा।

नागकन्याओं की कृपा से उनके घर में धन्य धन्य की कमी नहीं होगी। ‌

पंडितों का मत है कि यदि कोई व्यक्ति (स्त्री या पुरुष ) रात्रि के समय बुरे सपने देखते हैं तो उन्हें नाग कन्याओं का नाम जरूर स्मरण करना चाहिए।

परम पूज्य पंडित प्रदीप मिश्रा जी का कहना है कि यदि कोई व्यक्ति स्वप्न में सांप, मुर्दा, मरे हुए व्यक्ति, सफेद कपड़ा में लिपटा कुछ, सफेद बाल वाला कोई व्यक्ति, भयानक सपने देख रहे है तो सोते समय हाथ में जल लेकर जया, विषहर, शामिलबारी, देव और दोतलि कहकर माथे से लगाकर उसे पी ले। रात्रि ने बुरे से बुरे स्वप्न आना बंद हो जाएगा।

Shiva Daughters: कौन थीं भगवान शिव की 5 बेटियां, इनके नाम लेने मात्र से यह फायदा होता है।

 

डिस्क्लेमर: यह जानकारी इंटरनेट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार आप तक रखने का प्रयास किया गया है।
newsviralsk इसकी सत्यता की पुष्टि नहीं करती है। कोई भी समस्या हो तो सबसे पहले विशेषज्ञ से सलाह जरूर है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here